पेट की गैस को जड़ से नाश करने के लिए ये करो कभी गैस नहीं होगा gas ka gharelu upay

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय gas ka gharelu upay

पेट की गैस को जड़ से नाश करने के लिए ये करो कभी गैस नहीं होगा gas ka gharelu upay

पेट में होने वाले का बीमारियों में गैस होना एक आम बीमारी है इसलिए इस पोस्ट में हम पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय gas ka gharelu upay, ज्यादा गैस बनने का कारण pet me gais banane ka karan, पेट में गैस बनने के लक्षण pet me gas banane ke lakshan और पेट में गैस बनना घरेलू उपाय gas ka gharelu upchar के बारे में विस्तार से बात करेंगे और आपको हर चीज अच्छी तरीके से समझा कर इसका इलाज बताएंगे।

  बचपन से लेकर जवानी और बुढ़ापे तक हर उम्र के व्यक्ति को कभी ना कभी गैस बनने की समस्या का सामना करना ही पड़ता है। पेट में गैस बनने के कई सारे कारण हो सकते हैं परंतु उसमें से सबसे मुख्य कारण है पाचन का कमजोर हो जाना। 

  इसके अलावा कई लोगों को यह भी दिक्कत होती है कि अगर वह कहीं भी अगर कभी तली भुनी चीज या कोई चटपटी चीज खा लेते हैं तो इससे एसिडिटी बढ़ने लगती है और साथ ही साथ उनको गैस की समस्या भी होने लगती है।

  कई बार तो ऐसा भी होता है कि रात के समय में या फिर अन्य किसी जगह पर सफर के दौरान भी गैस की वजह से काफी मुश्किल हो जाती है। जब सफर में पेट दर्द दिया गैस वगैरह होती है तब समस्या ज्यादा नाजुक हो जाती है। तो चलिए सबसे पहले हम बात करते हैं की ज्यादा गैस बनने का कारण क्या है या गैस क्यों बनती है।

● ज्यादा गैस बनने का कारण pet me gais banane ka karan

जैसा कि हमने पहले बताया कि पेट में गैस बनने का मुख्य कारण पाचन का कमजोर होना है। उसके अलावा जिस तरह की आज की लाइफस्टाइल है उसके अंदर तली भुनी चीजों का ज्यादा सेवन करना, अनियमित खान पान, जल्दी बाजी में खाना खाना और ज्यादा खाना खा लेना, इसके अलावा जो लोग कम खाना खाते हैं उनको भी गैस होती है।

  जो लोग अपने भोजन में पोषण युक्त भोजन नहीं लेते हैं उनको भी गैस की समस्या होती है और जो लोग तली भुनी चीज या घी अथवा मीट और चिकन ज्यादा खाते हैं उनको भी गैस ज्यादा होती है। इसके अलावा जो लोग या तो सिर्फ वसा या प्रोटीन अथवा या कार्बोहाइड्रेट वाले पदार्थ का ज्यादा सेवन करते हैं उनको भी गैस होती है। 

 साथ ही साथ जो लोग मेहनत कम करते हैं, दिमागी तनाव ज्यादा लेते हैं। और खाना खाते समय बात करते हैं उनको भी गैस की समस्या बहुत ज्यादा होती है। इसलिए अगर आपको गैस से छुटकारा पाना है तो इन कारणों पर ध्यान देना बहुत जरूरी है।

इसे भी पढ़ें- लिवर खराब होने की पहचान फेल होने से पहले देता है ये 7 संकेत।

इसे भी पढ़ें- रोगप्रतिरोधक/रोगों से लड़ने की क्षमता को बढ़ाने के घरेलू उपाय।

पेट की गैस को जड़ से नाश करने के लिए ये करो कभी गैस नहीं होगा gas ka gharelu upay

● पेट में गैस बनने के लक्षण pet me gas banane ke lakshan

के पेट में गैस बनने पर कई सारे लक्षण देखने को मिलते हैं उसमें मुख्य लक्षण है पेट फूलना, पेट में ऐंठन होना या पेट में चुभन होना, ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जब पेट में गैस बनती है और वह कहीं से नहीं निकलती है तो पेट पर दबाव डालती है ऐसे में पेट फूल जाता है और उसके अंदर ऐठन तथा चुभन होती है।

   इसके अलावा पेट में गैस ज्यादा बनने पर ज्यादा अपानवायु आना, कच्ची डकार आना, एसिडिटी बनना, सांस फूलना आदि समस्याएं देखने को भी मिलती है। गैस का रोग जब पुराना हो जाता है तो पेट निकलना, अस्थमा होना, बाल झड़ना, आंखों की रोशनी कमजोर होना, सेक्स पावर कमजोर हो जाना, जोड़ों में दर्द होना आदि कई तरह की समस्या देखने को मिलती है। 

  ऐसा इसलिए क्योंकि जब हमको गैस होती है तो हमारा वात कुपित हो जाता है जिस वजह से हमारी नाड़ियां कमजोर और शरीर भी वात से प्रकुपित हो जाता है।

● छाती में गैस के लक्षण chati me gas ke lakshan

छाती में जब गैस बनती है तो सांस फूलती है और जी घबराने लगता है और छाती में गैस बनने का मुख्य कारण है एसिडिटी।

  एसिडिटी होने पर आमाशय में काफी मात्रा में गैस जमा हो जाती है और यह गैस ऊपर की तरफ जब डकार की रास्ते नहीं निकलती तब पेट में हलचल मचाती है और पेट में ही घूमती रहती है, जिस वजह से इसका दबाव छाती पर पड़ता है और फिर फेफड़े ऊपर की ओर दब जाते हैं और व्यक्ति की छाती भारी लगती है और उसको लगता है कि उसकी छाती में गैस भर गई है।

●सिर में गैस चढ़ने के लक्षण sir me gas chadhne ke lakshan

कई बार ऐसा भी देखने और सुनने को मिलता है कि कोई व्यक्ति ऐसा बोलता है कि मेरे सिर में गैस चढ़ गई है, सर में गैस चढ़ने पर व्यक्ति को चक्कर आना और यहां तक की बेहोशी होने की भी नौबत हो जाती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जब पेट से गैस नीचे के रास्ते नहीं निकलती है तो वह ऊपर के रास्ते बाहर आने की कोशिश करती है। 

 परंतु जब ऊपर के रास्ते भी बाहर नहीं निकलती है अथवा पेट में जाकर भर जाती है तो पेट में बहुत ज्यादा दबाव देती है जिस वजह से व्यक्ति के छाती पर गैस का दबाव पड़ता है और उसके शरीर में ऑक्सीजन की कमी होने लगती है और व्यक्ति को लगता है कि सर में गैस चढ़ गई है।

 यह बात बिल्कुल गलत है गैस हमेशा पेट में ही होती है यह गैस कहीं और नहीं जाती है। बस इसके दबाव के कारण व्यक्ति को लगता है कि पेट के इस हिस्से में या इस अंग में गैस चढ़ गई है। गैस दबाव के कारण दिल की धड़कनों पर भी प्रभाव पड़ सकता है।

इसे भी पढ़ें- बालों का झड़ना कैसे बंद करें रामबाण घरेलू उपचार।

इसे भी पढ़ें- बॉडी से स्ट्रेच मार्क हटाने का बिल्कुल आसान घरेलू तरीका।

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय gas ka gharelu upay

● खाना खाने के बाद पेट में गैस बनना khana khane ke bad pet me gas banna

खाना खाने के बाद पेट में गैस बनना एक नॉर्मल बात है यह कोई बुरी बात या गलत बात नहीं है। जब हम खाना खाते हैं और उसको चबाते हैं तो वहीं से हमारे खाने का पाचन शुरू हो जाता है। उसके बाद यह खाना हमारे आमाशय में आता है तो उसपर पाचक रस और आमाशय का हाइड्रोक्लोरिक एंजाइम अपनी प्रक्रिया करते हैं जिससे इसके कण टूटते हैं और इससे एसिड और गैस बनती है।

 अगर एसिड ज्यादा होता है तो हमको एसिडिटी और खट्टी डकार होती है परंतु जब इसके कन टूटते हैं और गैस बनती है तो हमको नॉर्मल डकार आती है।

 जब यह भोजन आगे बढ़ता है तो आगे भी इसके अंदर पित्त से और लीवर के जूस आकर मिल जाते हैं और जब यह आंतों में पहुंचता है तो वहां पर इसका अवशोषण तथा पाचन दोनों होता है जिस वजह से वहां पर भी इनमें से गैस निकलती है।

  थोड़ी-थोड़ी गैस निकलना और इसका अपान वायु या मुंह के द्वारा पास हो जाना एक नॉर्मल बात है परंतु जब यह गैस अधिक मात्राएं बनती है और खासकर जब हम भारी चीजों को खाते हैं तो उस समय हमारे भोजन को पचाने में ज्यादा टाइम लगता है और उस प्रक्रिया में गैस ज्यादा बनती है जिस वजह से हमको अधिक गैस होने की समस्या होती है। 

 इसके अलावा जब हम भोजन को अच्छी तरीके से नहीं चबाते हैं और इसका पाचन पेट में होता है तब यह अच्छी तरीके से पचता नहीं है जिस वजह से भी गैस ज्यादा बनती है।

● गैस से होने वाले रोग gas se hone wale rog

नॉर्मली गैस से कोई भी समस्या नहीं होती है परंतु जब यह गैस ज्यादा और लंबे समय तक बनती है तो इससे बवासीर, पाचन कमजोर होना, एसिडिटी, आमाशय में जख्म होना, कब्ज, डायरिया, उल्टी, मतली, गैस्ट्रो ऐसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज, कोलोन कैंसर, सिलियक डिजीज, ईटिंग डिसऑर्डर, इरिटीबल बॉवेल सिंड्रोम डिजीज, वजन कम होना, आंखें कमजोर होना, शरीर के बाल या सर के बाल उड़ना आदि गैस से होने वाले रोग gas se hone wale rog है।

● पेट में गैस बनना घरेलू उपाय gas ka gharelu upchar

पेट में गैस बनने पर आप निम्नलिखित घरेलू उपाय कर सकते हैं:-

अगर आपको खाना खाने के बाद गैस बनती है तो खाना खाने के बाद एक गिलास गाय के छाछ में एक चुटकी काला नमक और एक चुटकी काली मिर्च को मिलाकर इसका सेवन करें। इससे खाने का पाचन होता है और गैस नहीं बनती है।

अगर खाली पेट गैस बनती है तो उसके लिए 5 ग्राम अदरक के  छोटे-छोटे टुकडे काटकर उसमें काला नमक या सेंधा नमक डालकर उसको खाएं। इससे गैस खत्म होती है और भूख खुलकर लगती है साथ ही साथ इससे पाचन भी मजबूत होता है।

आप गर्म पानी भी पी सकते हैं या फिर एक गिलास पानी में एक चम्मच जीरा डालकर और उसको ठंडा करके उसका भी सेवन कर सकते हैं इससे भी गैस में काफी राहत मिलती है

सुबह आंवले का सेवन करना,

 नींबू पर नमक काली मिर्च लगाकर उसका सेवन करना आदि चीजों से भी गैस में काफी राहत मिलती है।

इसे भी पढ़ें- गले में खांसी और खराश होने पर इस घरेलू तरीके से मात्र एक दिन में ठीक करें।

इसे भी पढ़ें- हल्दी के 8 ऐसे आश्चर्यजनक फायदे जिनको जान के आपकी आंखें फट जाएगी।

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय gas ka gharelu upay

● पेट की गैस का तुरंत इलाज yoga

पेट की गैस का तुरंत इलाज के लिए वज्रासन, उत्तानपादासन, क्रंचेज करना, पैरों के बल कमर से नीचे झुक कर सीधे हाथ की उंगलियों से उल्टे पैर को छूना और उल्टे हाथ की उंगलियों से सीधे पैर को छूना, जंपिंग जैक करना तथा जोगिंग करने से भी पेट की गैस में तुरंत इलाज लाभ होता है और पेट की गैस का तुरंत इलाज होता है।

 योगा करने के लिए आप अगर रोज कपालभाति और अनुलोम विलोम करते हैं तो इससे आपका पाचन मजबूत होगा, तनाव घटेगा और गैस नहीं बनेगी।

● पेट की गैस का तुरंत इलाज pet ki gas ka turant ilaj kaise kare

पेट की गैस का तुरंत इलाज करने के लिए आप एक कांच की बोतल में गर्म पानी भरकर, उसको हल्का सा ठंडा करके जब सहने के लायक हो जाए तो उसको पेट पर रोल करें। इससे पेट में मौजूद सारी गैस धीरे-धीरे निकलने लगती है।

  इसके अलावा एसिलोक जो कि डॉक्टर लोग पेरिस्क्राईब करते हैं वह भी पेट की गैस को निकालने के लिए काफी लाभदायक मानी जाती है। परंतु यह दवा डॉक्टर की सलाह से ही लेना चाहिए।

 अपने कई बार सोंधी हर्रे, त्रिफला या आवाले का चूर्ण भी इस्तेमाल किया होगा। पेट की गैस का तुरंत इलाज के लिए आप इसका भी इस्तेमाल कर सकते हैं और इन सब में सबसे महत्वपूर्ण है गाय के दूध के छाछ का सेवन।

● पेट दर्द और गैस की दवा pet dard aur gas ki dawa

पेट में दर्द होने के कई सारे कारण हो सकते हैं इसलिए जब भी आपके पेट में दर्द या गैस वगैरह हो तो सबसे पहले कारण का पता लगाएं और कारणों को दूर करें। सिर्फ दवाइयां के भरोसे बैठने से आपका यह रोग ठीक नहीं होगा। इसके लिए आपको अपने खान-पान पर ध्यान देना पड़ेगा।

  अगर आप चाहते हैं कि आपको पेट की समस्याएं ना हो और पेट में दर्द और गैस की दवा ना ढूंढनी पड़े तो उसके लिए खाने को कम से कम 20 से 32 बार चबाकर खाएं, समय से खाना खाएं, ज्यादा तली भुनी चीजें ना खाएं, अपने भोजन सलाद, फाइबरयुक्त हरी सब्जियां और फल की मात्रा को बढ़ाएं साथ ही साथ भोजन में घी तेल मिर्च मसाले की मात्रा को कम करें और मैदा तथा बेसन से बनी हुई चीज कम से कम इस्तेमाल करें।

इसे भी पढ़ें- पेशाब को ज्यादा देर रोकने से क्या होता है।

इसे भी पढ़ें- फूड प्वाइजनिंग यानी खाने में जहर के लक्षण मिलने पर तुरंत यह करें।

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय gas ka gharelu upay

● गैस की रामबाण आयुर्वेदिक दवा gas ki ramban ayurvedik dawa

गैस की रामबाण आयुर्वेदिक दवा की अगर हम बात करें तो उसके लिए एक चम्मच नींबू का रस, एक चुटकी काला नमक, एक चुटकी काली मिर्च और एक चुटकी अजवाइन इन सबको आपस में मिलाकर थोड़े से 20 ml पानी में डालकर और गर्म करके इसका सेवन करें। 

इससे गैस में तुरंत आराम मिलता है। परंतु यह गैस परमानेंट इलाज नहीं है यह सिर्फ गैस की एक रामबाण आयुर्वेदिक दवा है और वह भी आपकी पेट में भरी हुई गैस को निकालने के लिए।

● पेट में गैस क्यों बनती है pet me gas kyo banti hai?

जैसा कि हमने पहले ही पेट में गैस क्यों बनती है के बारे में बताया। पेट में गैस बनना एक नॉर्मल समस्या है और यह सभी को बनती ही रहती है। पेट में गैस क्यों बनती है- ऐसा इसलिए क्योंकि जब हम खाना खाते हैं तो यह खाना पेट में जाकर फर्मेंट होता है

 इससे हाइड्रोजन मेथेन और कार्बन डाइऑक्साइड जैसी गैसे रिलीज होती है और यह रिलीज डकार या गुदामार्ग के रास्ते बाहर निकल जाती है। परंतु जब यह कहीं और निकलने का रास्ता नहीं खोज पाती या कब्ज रहता है अथवा गैस ज्यादा बनती है तो यह पेट में गैस को बढ़ावा देती है और गैस की समस्या हो जाती है।

● गैस के लिए सबसे अच्छी दवा कौन सी है?

गैस के लिए सबसे अच्छी दवा गैसेक्स टेबलेट और गैससांतक वटी है।

● गैस का परमानेंट इलाज क्या है?

गैस का परमानेंट इलाज की अगर बात करें तो इसका परमानेंट इलाज है खाने को अच्छी तरीके से चबाकर खाएं और नियमित रूप से तथा संतुलित आहार लें। अगर आप दावाओं के जरिए गैस का परमानेंट इलाज खोजेंगे तो आपको कभी नहीं मिलेगा। 

 क्योंकि जब आप अच्छी तरीके से चबाकर और सही समय पर सही भोजन ग्रहण करेंगे तो इससे आपका पाचन मजबूत होगा और आप जो भी खाएंगे वह सब अच्छी तरीके से हजम हो जाएगा।

  परंतु यदि आपका खाने का तरीका और समय अनियमित रहेगा तो आपको यह समस्या जीवन भर झेलनी पड़ेगी। फिर आपको गैस का परमानेंट इलाज जीवन में कभी नहीं मिलेगा। इसलिए सबसे पहली शर्त यह है की खाने को कम से कम 20 से 32 बार जरूर चबाएं और भोजन में चिकनी चीजों का प्रयोग कम कर दें।

इसे भी पढ़ें- सुबह खाली पेट किशमिश का पानी पीने के फायदे जान के आप हैरान रह जाओगे।

इसे भी पढ़ें- अगर बस में उल्टी होने लगे तो तुरंत क्या करना चाहिए।

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय gas ka gharelu upay

● 5 मिनट में गैस से छुटकारा कैसे पाएं?

आपने कई बार टीवी ऐड में देखा होगा की कोई दवा खाने से 5 मिनट में गैस से छुटकारा मिल जाता है हालांकि अगर पेट में गैस बनी है या एसिडिटी बनी होती है तो eno वगैरह खाने से उसमें थोड़ा सा राहत मिलती है परंतु यदि पेट में अंदर तक गैस बनी होती है तो उसके लिए आपको कम से कम आधे से 1 घंटे का टाइम लग जाता है। अगर आप कोई भी दवाई खाते हैं तो उसको असर करने में 1 घंटे का टाइम लगता ही है।

  इसलिए 5 मिनट में गैस से छुटकारा पाने की ना सोचें। हमेशा अपने गैस को मैनेज करना सीखें और अपने खान-पान पर ध्यान दें। अगर फिर भी आपको गैस ज्यादा बन गई और आपको तुरंत छुटकारा पाना है तो उसके लिए एक चम्मच नींबू का रस, एक चुटकी दालचीनी का चूर्ण, एक चुटकी त्रिफला का चूर्ण और एक चुटकी नमक इन सभी को आपस में मिलाकर पी जाए

  ऊपर से आधा गिलास गुनगुना पानी पी जाए। या फिर आप अदरक के छोटे-छोटे टुकड़ों के साथ थोड़ा सा सेंधा नमक मिलाकर भी खा सकते हैं इससे भी गैस में काफी जल्दी आराम मिलता है।

निष्कर्ष

आज आपने जाना :-

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय gas ka gharelu upay क्या हो सकते हैं,

ज्यादा गैस बनने का कारण pet me gais banane ka karan,

 पेट में गैस बनने के लक्षण pet me gas banane ke lakshan और

 पेट में गैस बनने के घरेलू उपाय gas ka gharelu upchar क्या हैं

उम्मीद करते हैं कि यह जानकारी आपके जीवन में लाभदायक साबित होगी। अगर फिर भी कोई सवाल या सुझाव हो तो हमें कमेंट करना ना भूले। हम आपके प्रश्नों का उत्तर देने की कोशिश करेंगे। 

Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url