पेट में जलन और एसिडिटी का इलाज मात्र 10 सेकेंड में (acidity ka turant ilaj)

 पेट में जलन और एसिडिटी का इलाज मात्र 10 सेकेंड में (acidity ka turant ilaj)

आयुर्वेद के अनुसार हमारे शरीर में तीन दोष हैं पहला वात, दूसरा पित्त और तीसरा कफ। जब यह तीनों दोष संतुलित रहते हैं तो हमारा शरीर सामान्य स्थिति में और स्वस्थ रहता है।

इस पोस्ट में हम बात करेंगे एसिडिटी का इलाज मात्र 10 सेकेंड में (acidity ka turant ilaj), के बारे में क्योंकि एसिडिटी होने पर एक व्यक्ति को बहुत परेशानियां झेलनी पड़ती हैं।

  आयुर्वेद के अनुसार हमारे शरीर में तीन दोष हैं पहला वात, दूसरा पित्त और तीसरा कफ। जब यह तीनों दोष संतुलित रहते हैं तो हमारा शरीर सामान्य स्थिति में और स्वस्थ रहता है। जब पित्त दोष या वात दोष में कोई खराबी आती है तो हमारी जठराग्नि कमजोर हो जाती है या उसके अंदर खराबी हो जाती है। जिस वजह से हम को भूख न लगना, गैस बनना, एसिडिटी होना आदि समस्या होने लगती है।

   एसिडिटी होना एक ऐसी समस्या है जिसमें एक इंसान बहुत असहज महसूस करता है। एसिडिटी होने पर वह चैन से बैठ नहीं सकता है और ना ही उसके दिमाग को शांति मिलती है। एसिडिटी होने पर छाती में जलन और खट्टी डकार आने लगती है जिस वजह से रोगी का मन बिल्कुल आकुल व्याकुल रहता है।

   इसके अलावा आजकल लोग बहुत मॉडर्न होते जा रहे हैं लोग ऑफिस में बैठकर घंटों तक काम करते हैं और दिमागी तनाव ज्यादा लेते हैं। जिस वजह से उनका पेट भारी, पाचन कमजोर होना, पेट निकलना, खाना अच्छे से ना पचना आदि समस्याएं होने लगती है। जिस वजह से इनको एसिडिटी की समस्या धीरे-धीरे होने लगती है।

 एसीडिटी दो प्रकार की होती है। पहली होती है अपवर्ड एंड डाउनवार्ड पोजीशन एसिडिटी और दूसरी होती है पुअर कंडीशन एसिडिटी।

  1 =} अपवर्ड एंड डाउनवार्ड पोजिशन (उध्र्वग अधोग ) एसिडिटी

इस प्रकार की एसिडिटी में जठर और अमाशय के बीच गैस बनती है। इसमें कफ पैदा होता है जिससे मितली आना, खट्टी डकार आना, छाती में जलन, भूख न लगना, सर दर्द आदि समस्याएं होती है। यह लोग उन लोगों को ज्यादा होता है जो दूध से बनी चीजें, मीट, मछली, अंडा तली भुनी आदि चीजों का ज्यादा सेवन करते हैं। 

  इसके अलावा जो लोग नई फसल का अनाज खाते हैं उनको भी यह एसिडिटी हो जाती है। इस प्रकार के एसिडिटी में रोगी के गले में बहुत जलन होती है और रोगी बहुत बेचैन हो जाता है। साथ ही साथ इसमें खट्टी डकार आना, कानों में झटके लगना, भूख न लगना, शरीर गर्म होना और बुखार होने की समस्या भी हो जाती है।

  =} एसिडिटी का इलाज मात्र 10 सेकेंड में (acidity ka turant ilaj) कैसे

  इस रोग के इलाज के लिए गिलोय के तने का दो चम्मच रस आंवले का रस एक चम्मच दोनों को मिलाकर सुबह खाली पेट पीने से इसमें बहुत फायदा मिलता है। साथ ही साथ दोपहर में कागजी नींबू और मिश्री का शरबत मिलाकर पीने से पेट ठंडा रहता है।

  अगर आपकी जठराग्नि कमजोर है और खाने का पाचन सही से नहीं हो रहा है तो शरीर में एनर्जी की पूर्ति के लिए दिन भर में 3 से चार बार नारियल का पानी पिए। इससे पित्त शांत होता है।

  रात को सोते समय एक चम्मच शहद और एक चम्मच त्रिफला का चूर्ण मिलाकर चाटने से एसिडिटी का रोग शांत होता है।

आयुर्वेदिक दुकानों पर अविपित्तकर चूर्ण मिलता है,ल। इस चूर्ण को सुबह दोपहर शाम खाना खाने के आधे घंटे बाद नार्मल पानी से लेना चाहिए। इससे एसिडिटी नहीं होती है।

एसिडिटी में पुराने अनाज से बना चावल, मूंग की दाल, परवल, करेला, पालक, बथुआ, गाय का दूध, ताजा मक्खन, धनिया, पके हुए केले आदि चीजों का सेवन करना चाहिए। इससे एसिडिटी कम होती है।

  2 =} पुअर कंडीशन एसिडिटी(अधोग स्थिति)

यह रोग छोटी अमाशय और बड़ी अमाशय के बीच में खराबी आने के कारण होता है। इसमें पेट में जलन, पतले दस्त आना, शौचालय करते समय गुदा में जलन होना आदि समस्याएं देखने को मिलती है। यह रोग मुख्यतः पित्त और वायु विकार बढ़ जाने के कारण होता है, और यह अधिकतर बरसात के मौसम में खट्टे पदार्थों और तलीभूनी का सेवन करने की वजह से ज्यादा होता है।

  =} एसिडिटी का इलाज मात्र 10 सेकेंड में (acidity ka turant ilaj) इलाज

इसके इलाज के लिए सबसे पहले उड़द की दाल, बैगन, तिल का तेल, भारी और बासी चीजें, शराब आदि चीजों का सेवन बंद कर देना चाहिए। और खाने में हल्की चीजों का इस्तेमाल करना चाहिए। पीने के लिए बेल का शरबत, नारियल का पानी, चिरायता आदि का इस्तेमाल करना चाहिए। इससे एसिडिटी शांत होती है और धीरे-धीरे एकदम से ठीक हो जाती है।

  =} एसिडिटी का इलाज पपीता से

पपीता गैस्ट्रिक एसिड के प्रोडक्शन को कम करता है और गैस को कम करता है। पपीते में पाचन एंजाइम पाया जाता है जो कि खाने को बहुत जल्दी पचाता है साथ ही यह गैस्ट्रिक एसिड को भी कम करता है, जिस वजह से हमको एसिडिटी नहीं होती।

  =} एसिडिटी का इलाज छाछ से

अगर आप एसिडिटी से तुरंत आराम पाना चाहते हैं तो इसमें छाछ आपकी बहुत मदद कर सकता है। अगर आपको गैस की समस्या है साथ ही साथ इस एसिडिटी भी है तो ऐसे में छाछ में थोड़ी सी मिस्त्री या हल्का सा काला नमक मिलाकर पी जाएं। इसमें मौजूद लैक्टिक एसिड एसिडिटी को तुरंत कम करता है और पेट की गर्मी को शांत करता है।

  =} सौंफ से एसिडिटी का इलाज मात्र 10 सेकंड में

पेट की गर्मी को शांत करने के लिए और एसिडिटी को खत्म करने के लिए सौंफ या सौंफ का पानी पीना बहुत ज्यादा फायदेमंद साबित होता है। सौंफ का पानी बनाने के लिए एक गिलास पानी में एक चम्मच सौंफ का चूर्ण डाले हैं फिर इसको फ्रिज में आधे घंटे के लिए रख दें जब यह ठंडा हो जाए तब इसको छानकर इसमें से सौंफ निकालकर पहले चबा जाए उसके बाद ऊपर से यह ठंडा पानी पी जाएं। इससे पेट तुरंत ठंडा होगा, एसिडिटी कम होगी और पेट की गर्मी भी शांत हो जाएगी।

=} मुलहठी से एसिडिटी का इलाज

मुलेठी की जड़ का इस्तेमाल करने से भी एसिडिटी से बहुत जल्दी राहत मिल जाता है। अगर पेट की परत में सूजन आ गई है या घाव हो गया है तो उस समस्या में भी मुलेठी कि जड़ बहुत फायदा करता है। 

  मुलेठी की जड़ या तने को इस्तेमाल करने के लिए एक ग्राम मुलेठी की जड़ को लेकर खूब चबाएं।
यह कार्य आप खाने के आधे घंटे बाद करें इससे खाने का पाचन होता है और एसिडिटी कम होती है।

  इसके अलावा इसको प्रयोग करने के लिए 100 ग्राम पानी में दो ग्राम मुलेठी के छोटे-छोटे टुकड़ों को डालकर उनको उबाले। जब यह पानी उबल जाए तो इसको खाना खाने के पश्चात आधे घंटे के अंतर पर इसको चाय की तरह पी जाए।

=} एसिडिटी का इलाज के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल करें

   एलोवेरा को आयुर्वेद में कई प्रकार की व्याधियों को दूर करने के लिए प्रयोग किया जाता रहा है और आज भी इसका प्रयोग बहुत ज्यादा किया जाता है। एनसीबीआई यानी नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इनफॉरमेशन के अनुसार एलोवेरा के अंदर गैस्ट्रो प्रोटेक्टिव गुण होते हैं। जिस वजह से यह पेट की गैस और एसिडिटी में बहुत फायदा प्रदान करता है।

  इसको प्रयोग करने के लिए एक ताजा एलोवेरा के पत्ते को लेकर उसके अंदर से गूदा निकाल के इसको किसी ग्राइंडर में ग्राइंड कर ले और इसका जूस बना ले। फिर 20 ग्राम एलोवेरा को 50 ग्राम पानी में डालकर रोज सुबह शाम खाली पेट सेवन करें। इससे स्किन संबंधी समस्या भी ठीक हो जाती है और एसिडिटी भी शांत हो जाती है।

The End-

आशा करते हैं दोस्तों एसिडिटी का इलाज मात्र 10 सेकेंड में (acidity ka turant ilaj) के बारे में दी गई जानकारी आपके जीवन में लाभदायक साबित होगी अगर आपका इस विषय से संबंधित कोई अन्य सवाल या सुझाव हो तो हमको कमेंट करें। हम आपके सवालों का जवाब देने की कोशिश करेंगे। पोस्ट को अंत तक पढ़ने के लिए सहृदय धन्यवाद।
Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url