चुटकियों में नींद आने का रामबाण घरेलु उपाय। hindi me nind aane ke upay.

 क्या आप जानते हैं नींद आने का रामबाण उपाय hindi me nind aane ke upay.

नींद आने का रामबाण उपाय


नींद की समस्या आज कल बढ़ती ही जा रही है इसलिए आज हम नींद आने का रामबाण उपाय। nind aane ke upay in hindi.के बारे में बात करेंगे।
      हम अगर 1 दिन खाना नहीं खाएंगे तो कोई खास फर्क नहीं पड़ेगा, वही 4 दिन अगर नहाएंगे नहीं तब भी कोई समस्या नहीं होगी। मगर सोचिए तब क्या जब होगा जब आप दिन भर के काम से थककर आएंगे और रात को अच्छे से सुकून की नींद सो नहीं पाएंगे। 

      अगर आप सुबह उठने के बाद अपने शरीर में आलस फील करते हैं, दिनभर मानसिक तनाव ज्यादा रहता है और दिमाग में बहुत कड़वाहट रहती है। साथ ही साथ आप अपनी इच्छाओं को दबाकर जीते हैं तो मेरा यकीन मानिए कि आप अनिद्रा रोग के शिकारी हैं। 

      वही जो लोग रात को 12:00 बजे तक जागते हैं और सुबह जिनकी जल्दी नींद खुल जाती है वह भी अनिद्रा रोग यानी नींद न आने की परेशानी से ग्रस्त हैं। नींद ना आने की समस्या से आजकल कई लोग पीड़ित हैं अक्सर नींद ना आने पर हम हमेशा ऐसा इलाज ढूंढते हैं जो कि हम को परमानेंट सलूशन दें। परंतु हमको जानकारी ना होने की वजह से हम एलोपैथी के चक्कर में पड़ जाते हैं और एलोपैथिक की दवाइयों का इस्तेमाल करने लगते हैं।

       शुरू शुरू में यह दवाइयां खाने से हमको अच्छी नींद तो आती है मगर धीरे-धीरे इसकी लत पड़ जाती है जो कि बहुत गलत बात है। साथ ही साथ एलोपैथिक की दवाइयां हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ज्यादा हानिकारक होती हैं। क्योंकि एलोपैथिक दवाइयां जो हमको नींद लाती है वह ड्रग से बनाई जाती हैं और यह ड्रग हमारे शरीर में लिवर, किडनी, पेट, पेनक्रियाज, आमाशय और एंडोक्राइन ग्लैंड पर बहुत बुरा असर डालते हैं।

       साथ ही साथ शुरू में हमको इन दवाइयों से कम डोज में ही नींद आ जाती है। मगर जब हम इसके आदि हो जाते हैं तो इन दवाइयों की डोज बहुत बढ़ानी पड़ती है। इसलिए आज हम इस ब्लॉग में आपको नींद आने का रामबाण उपाय hindi me nind aane ke upay. बताएंगे। इससे बिना दवाइयों के भी इस समस्या को आप दूर कर सकते हैं। 

     ● नींद नहीं आने का कारण। Nind nhi aane ke karan.

        नींद नही आने के कारण Nind nhi aane ke karan.कई सारे हैं मगर उनमे सबसे मुख्य कारण है तनाव और डिप्रेशन। आजकल लोगो को अक्सर ऑफिस की परेशानियां, घर की परेशानियां, समाज की परेशानियां, भविष्य की परेशानियां, प्यार में धोखा मिलना, किसी की मृत्यु हो जाना आदि दर्द और तनाव झेलना पड़ता है ऐसे में जिनकी मानसिक ताकत कम होती है उनको तनाव और नींद न आने की परेशानी झेलनी पड़ती है। 

       इसके अलावा जो लोग समय से नही सोते, पौष्टिक भोजन नही लेते, आलस में रहते हैं, अनियमित लाइफस्टाइल जीते हैं दिन में सोते हैं और रात को जागते हैं उनको भी नींद न आने की समस्या परेशान करती है।
    hindi me nind aane ke upay.

      ● नींद हमारे लिए क्यों जरूरी है?Why is sleep important for us?

    जब हम नींद लेते हैं तो नींद के दौरान हमारे हृदय और ब्लड वेसल्स आराम करते हैं साथ ही साथ इससे हमारा दिमाग मांसपेशियां और पूरा शरीर आराम करके एनर्जी को स्टोर करता है। यही एनर्जी हम सुबह के काम में इस्तेमाल करते हैं। मगर जब हम रात को अच्छी तरीके से सो नहीं पाते हैं तो हमारे शरीर में काम करने की ताकत नहीं बचती और जब सुबह उठते हैं तो आलस, मन खट्टा और बोरियत महसूस होती है। 

      अगर आपको नींद की पावर देखनी है तो आप 24 घंटे जागकर देख लीजिए। 24 घंटे के बाद आपकी हालत ऐसी हो जाएगी कि आप ढंग से बैठ भी नहीं पाएंगे। जहां बैठना चाहेंगे वहां नींद के मारे आप सो जाएंगे। इसलिए खाने-पीने और नहाने से भी ज्यादा जरूरी है अच्छी नींद लेना।

     ● अच्छी नींद आने के लिए क्या खाना चाहिए।Nind na aane par kya karen.

    नींद की कमी को दूर करने के लिए सबसे पहले बेसिक चीजों का ध्यान देना बहुत जरूरी है। उसके लिए हरी साग और सब्जियां ज्यादा मात्रा में खाएं, हरी साग और सब्जी शरीर के लिए ही नहीं बल्कि हमारी नींद लिए के लिए भी बहुत जरूरी होती हैं। 

     खासकर वह सब्जियां जिनके साग के पत्ते बड़े होते हैं और जिनमें लिसलिसापन ज्यादा होता है यह सब्जियां नींद आने में काफी मदद करती हैं। ऐसे में पोरो और पालक के साग नियमित रूप से खाएंगे तो आपको इससे बहुत अच्छी नींद आएगी।

      ● नींद के लिए जरूरी मैग्नीशियम और कैल्शियम वाले फूड। nind aane ke upay magnesium and calcium.

    हमारे भोजन में मैग्नीशियम और कैल्शियम वाले फूड होना बहुत जरूरी है क्योंकि यह दोनों मिनरल्स हमारी नींद को बढ़ाते हैं। इनको नींद बढ़ाने वाला केमिकल भी कहा जाता है, जब यह दोनों मिनरल्स साथ में हमारी बॉडी के अंदर जाते हैं तो बहुत ज्यादा असर करते हैं ।

      मैग्निशियम खाने से दिल की बीमारी का खतरा कम होता है और कैल्शियम खाने से हमारी हड्डियां मजबूत होती हैं और बहुत अच्छी नींद आती है। साथ ही कैल्शियम खाने से हमको पथरी की समस्या ज्यादा नहीं होती है। 

      1 दिन में 200 मिलीग्राम मैग्नीशियम और 600 मिलीग्राम कैल्शियम से ज्यादा ना लें क्योंकि इससे ज्यादा मैग्नीशियम और कैल्शियम हमारा शरीर यूज नहीं कर पाता है। अब आप समझ तो गए होंगे कि अच्छी नींद आने के लिए क्या खाना चाहिए।nind na aane par kya karen. अब चलिए और आगे बढ़ते हैं।
    नींद आने के आयुर्वेदिक उपाय

     ● नींद आने के आयुर्वेदिक उपाय योग और ध्यान करें।nind aane ke aurvedik upay.

      योग करने से हमारे शरीर की मांसपेशियां और नसें खुल जाती है इस वजह से रक्त का फ्लो अच्छा रहता है और हमको तनाव नहीं होता है। साथ ही जब हम ध्यान और प्राणायाम करते हैं तो इससे हमारे शरीर में ऑक्सीजन की पूर्ति होती है और हमारा एंडोक्राइन ग्लैंड बहुत अच्छी तरीके से काम करता है। जिस वजह से हमारा मूड फ्रेश रहता है। 

      डिप्रेसन नही रहता है और प्रसन्न रहता है। और जब हमारा मन प्रसन्न और तनाव मुक्त रहता है तो हमको बहुत अच्छी नींद आती है। इसलिए प्राणायाम को अपने जीवन में जरूर शामिल करें। प्राणायाम में कपालभाति, अनुलोम विलोम और भ्रामरी जरूर करें इससे आपका पेट भी सही रहेगा और दिमाग भी बिल्कुल फ्रेश रहेगा। अगर बिस्तर पर आपको नींद ना आ रही हो तो उस समय 5 मिनट अनुलोम-विलोम कर लीजिए फिर आपको हंड्रेड परसेंट नींद आ जाएगी।

      ● नींद ना आना घरेलू उपाय एरोमाथेरेपी (खुश्बू)। nind aane ke upay Aromatherapy (good smell).

     अच्छी खुशबू का हमारे दिमाग से बिल्कुल सीधा और गहरा संबंध होता है। इतना ही नहीं पहले के लोग तो अपने बेडरूम और तकिए के आसपास खुशबूदार चीजें रखते थे। जिससे कि उनका मन प्रसन्न रहें और उनको नींद आए।

       अगर आप भी अच्छी नींद पाना चाहते हैं तो अपने तकिए के नीचे चमेली या अपने बालकनि में रजनीगंधा का फूल जरूर रखें। ऐसा करने से आपके रूम में और आपके गलियारों में इन फूलों की खुशबू फैल जाती है जिससे आपको बहुत अच्छी नींद लगती है।

      ● नींद ना आने की बीमारी का इलाज गर्म दूध।nind aane ke upay hot water.

    दूध में एक टिपटॉप नाम का बहुत महत्वपूर्ण तत्व पाया जाता है यह नींद को बढ़ाने में हमारी बहुत मदद करता है। अगर आप रोज गर्म दूध का सेवन करते हैं तो हमारा यकीन मानिए आपको नींद ना आने की समस्या बहुत कम होगी। 

      इसके साथ ही अगर आप एक गिलास गर्म दूध में एक छोटा चम्मच दालचीनी का चूर्ण मिलाकर पीते हैं तो इससे आपका पाचन सही रहेगा और दिमाग भी शांत होगा। जिस वजह से आपको बहुत अच्छी नेचुरल नींद आएगी।

      ● नींद नहीं आती उपाय- हॉप्स hops nind aane ke upay.

      हॉप्स एक प्रकार का जंगली पौधा होता है, इसके फलों का उपयोग शराब यानी बीयर को बनाने के लिए किया जाता है। हॉप्स नींद ना आने की परेशानी, तनाव, डिप्रेशन आदि समस्याओं में बहुत काम आता है। 

      इसके फलों का रस बहुत अच्छी नींद लाता है और दिमाग को शांत करता है। इसका सेवन करने से बहुत मजे की नींद आती है। इसलिए अगर आपको हॉप्स का फल मिले तो उसका रस जरूर पियें।
    नींद आने का रामबाण उपाय hindi me

     ● 1 मिनट में नींद आने का तरीका।nind aane ke liye kya karen

    अगर आप चाहते हैं कि आप बिस्तर पर जाएं और मात्र 1 मिनट में आपको नींद आ जाए तो उसके लिए आपको अपना सोने का टाइम और खान-पांन सही करना पड़ेगा। इसके लिए रात को सोते समय हल्का भोजन ले और सोने से एक घंटा पहले भोजन ले।

      भोजन लेने के बाद 100 कदम बाहर टहले, दिन में न सोएं और रात में जब नींद ना आए तब अपनी सांसों को धीरे-धीरे और लंबे-लंबे छोड़े। ऐसा करते समय अपनी सांसों पर ध्यान केंद्रित करें। इससे बहुत जल्दी और गहरी नींद आएगी। जब यह अभ्यास हो जाएगा तब आपको बिस्तर पर जाते ही 1 मिनट में नींद लग जायेगी।

    FAQ-

     ● रात को नींद में कभी-कभी ऐसा क्यों लगता है कि किसी ने आपको जकड़ लिया है?nind nahin a raha hai ya kisi ne nind me jakad liya hai.

     जवाब- बहुत लोग की ऐसी मान्यता है कि रात में शरीर एकड़ना या बुरे सपने आना कोई भूत प्रेत या कुछ अकारण शक्तियों के कारण होता है। परंतु यह सत्य नहीं है। जब हम सोते हैं तो हमारा शरीर और दिमाग आराम की दशा में चला जाता है ना कि हम बेहोश या मृत्यु को प्राप्त हो जाते हैं।

     उस समय हमारा शरीर और दिमाग जीवित होते हैं परंतु एक्टिव नहीं होते हैं इस बीच में जब हमारी नींद कमजोर या हल्की खुली रहती है और उस समय कोई विचार आता है तो हमारा शरीर एक्टिव होने की सोचने लगता है। परंतु हमारे ऊपर नींद हावी रहती है इसलिए हम चाह कर भी अपने हाथ पांव ज्यादा हिला नहीं पाते हैं और हमको लगता है कि हमको किसी ने जकड लिया है।

      यह कोई बड़ी समस्या नहीं है जीवन में सभी को कभी ना कभी ऐसा होता ही है और अधिकतर जो लोग ज्यादा मेहनत करते हैं या दिमागी टेंशन ज्यादा लेते हैं उनको यह समस्या ज्यादा होती है।

     ● किस विटामिन की कमी से नींद नहीं आती है। Nind nhi aane ke karan. 

     जवाब- अगर विटामिन की बात करें तो विटामिन डी की कमी से हमको नींद न आने की समस्या हो सकती है। क्योंकि विटामिन डी को रिसिप्ट करने वाले कई सारे रिसेप्टर दिमाग के क्षेत्र में पाए जाते हैं। यह रिसेप्टर्स नींद में बहुत बड़ी भूमिका निभाते हैं।

      वही विटामिन डी मेलाटोनिन रिलीज करवाने के लिए भी मुख्य भूमिका निभाता है। क्योंकि इससे हमको नींद अच्छी आती है। अगर आप धूप में नहीं रहते हैं या अच्छा भोजन नहीं लेते हैं तो आपको विटामिन डी की कमी हो सकती है, और आपको नींद की समस्या भी हो सकती है। 

     इसलिए जब भी मौका मिले तब हल्की धूप में बैठे, सैल्मन मछली का सेवन करें और मशरूम का भी सेवन करें। इसके अलावा विटामिन B6 भी नींद के लिए बहुत जरूरी है। इस विटामिन की कमी से भी नींद नहीं आती है।
    Nind na ane ka ilaj

     ● सबसे खतरनाक नींद की गोली का नाम। khatarnak nind ki dawa ka naam.

     जवाब - वैसे तो वह सारी दवाई जो नींद पैदा करती है या नशा प्रदान करती है वह सब खतरनाक ही होती है। क्योंकि उनके अंदर कई सारे खतरनाक केमिकल और साल्ट मिलाए जाते हैं, जो की डायरेक्ट हमारे शरीर के विभिन्न हिस्सों पर अपना प्रभाव डालते हैं।

     परंतु जब यह जब लंबे समय तक ली जाती है या हाई डोज की दवाइयां एक साथ ली जाती हैं। तब यह बहुत खतरा पैदा कर देती हैं। कुछ दवाइयां जो नींद पैदा करती है उनके नाम कुछ इस तरह:- Nind ki goli ka naam
    • Alparax -0.5mg
    • Alparax -0.25mg
    • Etirest -0.5
    • Gardenal -30 Tablet
    • Restyl -0.25
    • Nexito -Fort
    • Ativan -2mg Tablet
    यह सारी दवाइयां डॉक्टर के कहे के हिसाब से ली जाती है तो इससे कुछ ज्यादा खतरा नहीं होता है। परंतु जब यह दवाइयां बिना डॉक्टर की देखरेख में लंबे समय तक या अधिक मात्रा में ली जाती है तो यह बहुत खतरा पैदा कर देती  हैं।

     ● नींद की गोली का असर कैसे खत्म करें?nind ki dawai ka asar kaise kam kare.

    अगर किसी ने कम पावर वाली नींद की गोली या बर्दाश्त करने की क्षमता तक गोली ली है तो उसको आराम से सोने दे। जब उसकी नींद खत्म होगी तो वह अपने आप उठ जाएगा।
      परंतु यदि किसी ने गलती से नींद की गोली खा ली है या हाई पावर की और ज्यादा गोलियां खा ली है तो तुरंत किसी अस्पताल में संपर्क करें। वरना स्थिति बहुत डेंजर हो सकती है।

    ● 10 नींद की गोली खाने से क्या होगा?nind ki goli jyada khane se kya hoga.

    अगर आपका सवाल यह है कि एक साथ 10 नींद की गोली खाने से क्या होगा? या 10 नींद की गोली खाने से क्या होगा? तो इसका उत्तर है शायद आपकी मौत। 

     क्योंकि नींद की गोलियां कई सारी केमिकल्स को मिलाकर बनाई जाती है ऐसे में अगर इन दवाइयां को अधिक मात्रा में लिया जाता है तो यह आपको बेहोश कर सकती हैं या आपको अटैक ला सकती हैं। 

       इतना ही नही यह आपको मौत की नींद भी सुला सकती है। यह अलग-अलग व्यक्ति पर अलग-अलग प्रक्रिया दे सकती है। जिन व्यक्तियों को नींद की गोलियां खाने की आदत है और वह इसको आसानी से झेल लेते हैं उनके ऊपर 10 गोलियों असर अलग होगा।

      यानी उनको बेहोशी आ जाएगी या फिर शरीर में कुछ बड़े खतरे पैदा कर सकती है। इसके अलावा जो लोग नींद की गोलियों के आदी नहीं है अगर वह एक साथ 10 गोलियों का इस्तेमाल करते हैं तो उनकी मौत भी हो सकती है।

    THE END:-

      इसी के साथ आशा करते हैं दोस्तों की नींद आने का रामबाण उपाय hindi me nind aane ke upay. दी गई जानकारी आपके लिए बहुत ज्यादा लाभकारी साबित होगी। पोस्ट को अंत तक पढ़ने के लिए आपका तहे दिल से धन्यवाद।।

    Next Post Previous Post
    No Comment
    Add Comment
    comment url